X Close
X
9907046471

2019 में कोई चुनौती नजर नहीं आती – PM मोदी


Modi No Challenge

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव का रुख तय करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को ‘अजेय भारत, अटल भाजपा’ का नारा दिया। पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी के समापन भाषण में उन्होंने कहा कि 2019 के चुनाव में कोई चुनौती नजर नहीं आती। ऐसा इसलिए कर पाए क्योंकि भाजपा में सत्ता का अहंकार नहीं है। हम सत्ता को कुर्सी के रूप में नहीं देखते, बल्कि जनता के बीच काम करने का अवसर देखते हैं।

प्रधानमंत्री के भाषण की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि प्रधानमंत्री ने सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया और विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि विरोधी दलों में ऐसे महागठबंधन की चर्चा है जिसमें नेतृत्व का कोई ठिकाना नहीं है, नीति अस्पष्ट है और नीयत भ्रष्ट है। जो एक दूसरे को देख नहीं सकते, साथ चल नहीं सकते, वे आज एक दूसरे को गले लगाने को तैयार हैं।

 प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष जरूरी है, लेकिन जो लोग सत्ता में विफल रहे वे विपक्ष में भी विफल हैं। न कोई जवाबदेही है और न ही कोई सही मुद्दा उठाया जा रहा है। विपक्ष वैचारिक अधिष्ठान पर सवाल पूछे, लड़ाई करे, इसके लिए हम तैयार हैं।

मोदी ने कहा, हम चाहते हैं कि 48 साल एक परिवार के और 48 माह इस सरकार के काम की चर्चा हो। सवाल पूछे जाएंगे कि उन्होंने 48 साल में क्या किया और 48 माह में भाजपा ने क्या किया? लेकिन विपक्ष न मुद्दों पर लड़ता है और न ही काम पर, रोज नए झूठ गढ़ना और उन पर लड़ना उनकी नीयत बन गई है। भाजपा कार्यकर्ता तर्कों व तथ्यों से कांग्रेस के झूठ को बेनकाब करें।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने गराबी हटाने के नाम पर बैंकों, कोयला खदानों, अन्य खदानों का राष्ट्रीयकरण किया। फिर कुछ साल बाद कहा कि गलती हो गई, अब सुधार करना है। बिना सोचे समझे काम करने से गरीबों को क्या मिला? आज कांग्रेस के नेतृत्व को विपक्ष में कोई स्वीकार करने को तैयार नहीं है। कुछ तो बोझ मानते हैं। कांग्रेस के भीतर भी यही स्थिति है। ऐसे में विपक्षी महागठबंधन का शिगूफा भाजपा और उसकी सरकार की लोकप्रियता से डर को साफ दिखाता है।

लोकसभा व विधानसभा चुनाव की तैयारियों व रणनीति पर केंद्रित रही  राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का समापन करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को नई ऊर्जा और उत्साह से लबरेज किया। उन्होंने कहा कि हम विजय का विश्वास लेकर चल पड़े हैं। इसका आधार देश के सवा सौ करोड़ लोग हैं। देश के एक-एक बूथ को मजबूत करेंगे। हर बूथ एक चौकी होगा, जो भाजपा की सरकार के किले की मजबूती का रास्ता बनाएगा।

प्रधानमंत्री ने एक देश-एक चुनाव पर देशव्यापी बहस का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि इसके लिए किसी पर दबाव न डालें, बल्कि चर्चा होनी चाहिए। केवल राजनीतिक ही नहीं, बार काउंसिल, ट्रेड यूनियन से लेकर हर मंच पर बहस हो कि इससे कितना धन व समय बचेगा। सरकार ने एक देश-एक कर और एक देश-एक पावर ग्रिड करके दिखाया है।

अटलजी को श्रद्धांजलि
मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अटल जी ने भाजपा के विचार, संस्कार और नेतृत्व को नई ऊंचाई दी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय के बाद जनसंघ व संघ भविष्य को लेकर चिंतित था, लेकिन अटल जी ने न केवल रास्ता बनाया बल्कि नई ऊंचाइयों पर भी ले गए। उन्होंने कहा कि पार्टी का सूरज तो चला गया लेकिन उनके जैसे कार्यकर्ताओं के रूप में जो सितारे हैं, वे चमकें और विचारधारा को आगे बढ़ाएं।

(EMALWA)